उधम सिंह नगर:यूपी के पूर्व चेरमैन की दबगई ,पीड़ित युवक का अपहरण कर जम कर पीटा ,किडनैपिंग का विडिओ सीसीटीवी मे कैद, बाजपुर पुलिस घटना से अनजान..

0 86

रिंकी सिंह ,बाजपुर : उधम सिंह नगर में एक ऐसी घटना सामने आई जिसने पुलिस की रातो की नींद हराम कर दी। पुलिस की लापरवाही के चलते हुए घटना युवक की जान बन आई क्यों की दिन में पैसो को लेकर हुई घटना में यूपी के पूर्व चेरमैन के द्वारा की गयी मारपीट में कोई कार्यवाही नहीं की जिसका फायदा उठाकर देर शाम पीड़ित युवक का अपहरण कर लिया और मसवासी ले गए जहाँ युवक की जम कर पिटाई की। जहाँ मौक़े का फायदा उठा कर युवक मसवासी चौकी जा पहुंचा जिससे उसकी जन बची। हालांकि मामला बढ़ता देख पुलिस ने मामूली धरायों में मुकदमा दर्ज कर दिया।

 

 

आपको बता दें कि 28 जून को उधम सिंह नगर के बाजपुर में पुराने लेन देन को लेकर दो पक्षों में काफ़ी समय से विवाद चल रहा था। जिसके समाधान के लिए दोनों पक्षों के लोगों ने आपसी सहमति से बाज़पुर के नगर पालिका पालिका कॉम्प्लेक्स में स्थित दुकान में पंचायत रखी थी।

 

जिसमें दोनों पक्षों के लोग आपसी सहमति से मामले के समाधान के लिए अपनी अपनी बात रख रहे थे। जहाँ यूपी से आये भाजपा के पूर्व चेयरमैन हरिओम मौर्य ने पंचायत में गाली गलोज शुरू कर दी । वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि भाजपा के पूर्व चेयरमैन जूता हाथ में लेकर दुकान स्वामी को मारने की कोशिश करते नज़र आ रहे हैं। देखते ही देखते मामला इतना बढ़ गया है कि चेयरमैन ने पीड़ित दुकान स्वामी को थप्पड़ मार दिया था।

 

 

मामले को लेकर दोनों पक्ष कोतवाली पहुंचे लेकिन पुलिस राजनैतिक दबाव के चलाते किसी तरह की कोई कारवाही नहीं की लेकिन शाम ढलते ढलते मामले ने एक नया मोड़ ले लिया जहाँ युवक एक ठेले पर कुछ खा रहा था तभी अचानक जैसे ही वह वहां से अपने स्कूटी पर घर की और चला तभी एक कार ने उसकी स्कूटी में टक्कर मार दी और अचनाक आधा दर्जन लोगो ने युवक को पकड़ लिया और मारपीट करते हुए जबरन अपहरण कर कार में बैठा लिया जो कि पूरा मामला cctv में लाइव अपहरण कैद हो गया। अपहरण कर यूपी के मसवासी ले गए और युवक के साथ खूब मारपीट की। अचानक किसी तरह स्वागत युवक स्थानीय चौकी मसवासी पहुँच गया जिससे उसकी जान बच पाई।

 

हुए इस पुरे मामले पुलिस पर कई सवाल खडे हुए हैं जहां आखिर ज़ब 28 जून को लड़ाई हुई तब पुलिस के पास तेहरीर आई और cctv में मामला लाइव कैद हुआ लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की सायद कोई बड़ी घटना का इन्तेजार कर रही थी बाजपुर पुलिस। वहीं मामले में राजनैतिक दबाव इतना रहा की अपहरण करता एक दम बुखौफ बने रहे जो की सरेआम युवक के साथ मारपीट करते हुए युवक का अपहरण कर ले गए। इस तरह के पुलिस पर कई सवाल खडे होते हैं।

 

बाजपुर के सीओ भूपेंद्र भंडारी से जब हमने बात की तब वह मामले में ऐसा गैर जिम्मेदाराना बयान देते नजर आये कि आप सुन कर खुद हैरत में पड़ सकते हैं। जबकि cctv में एक दम साफ साफ दिखाई दे रहा है कि युवक का अपहरण किया गया है लेकिन सीओ का ये बयान पुलिस की कार्यप्रणली पर सवाल खडे होने लाजमी हैं।

 

दुकान स्वामी शंकर सैनी का कहाना है की 28 जून को पिछला लेनदेन को लेकर फ़ोन के माध्यम से बात हुई जिसके बाद ये एक दम मेरी दुकान पर आ धमके और गाली गलौच करते हुए मारपीट कर दी। इन्होने आरोप लगाया की जिस तरह से मारपीट की है उस तरह से जान से मारने का इरादा था इनका। जहाँ 29 जून की रात्रि को एक ठेले पर पानी पूड़ी खा रहे थे

 

 

ज़ब वह वहाँ से घर की और चले तब उनकी स्कूटी को कार ने टक्कर मर गिरा दिया और उन्हें आधा दर्जन से अधिक लोगो ने पकड़ कर मारपीट की और अपहरण कर मसवासी ले गए और जम कर पिटाई की जहाँ वह किसी तरह बच कर मसवासी चौकी पहुँच गए जिससे उनकी जान बच पाई। इनका पुलिस पर साफ तौर पर आरोप है की 28 जून की मारपीट पर कोई कार्यवाही नहीं की।

 

रिपोर्ट- हरीश सैनी

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.