हरियाणा हिंसा विरोध में बजरंग दल विश्व हिंदू परिषद का बाइक रैली व विरोध प्रदर्शन कर दी चेतावनी

0 22

बलरामपुर:  हरियाणा के नूंह जिले में भड़की हिंसा में अब तक छह लोगों की मौत होने की पुष्टि हो चुकी है। हिंसा की इस आग का असर अब शाजापुर में दिखने लगा है। दो अगस्त को देश के कई हिस्सों में हिंदू संगठनों की ओर से विरोध प्रदर्शन किया गया है। वहीं उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में भी बजरंग दल व विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा बुधवार को धरना प्रदर्शन किया गया।

 

बलरामपुर जिले में रामलीला मैदान से शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए इन सभी दलों के कार्यकर्ताओं ने विरोध में बाइक रैली निकाली, जो रामलीला मैदान से होते हुए मैजेर चौराहा चौक चौराहा पूर्व टोला चोक बाजार होते हुए वीर विनय चौराहे पर शांति प्रदर्शन करते हुए बाइक रैली के माध्यम से वीर विनय चौराहे से होते हुए पीपल तिराहा तहसील कचहरी से पैदल यात्रा करते हुए बलरामपुर जिलाधिकारी कार्यालय पुलिस सुरक्षा के बीच बजरंग दल व विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन करते हुए पहुंचे और हरियाणा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए हरियाणा सरकार एवं जिहादी मानसिकता वाले लोगों को फाँसी चढ़ाए जाने की मांग करते हुए राष्ट्रपति के नाम प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से बताया कि हिंदू समाज द्वारा आयोजित धार्मिक ब्रजमंडल यात्रा जो कि प्रतिवर्ष हरियाणा के मेवात में नूंह जिले में कई वर्षों से निकाली जाती आ रही है, हिंदुओं के आस्था व श्रद्धा के केंद्र पांडव कालीन नलहंद शिव मंदिर के धार्मिक यात्रा में सुनियोजित एवं योजनाबद्ध तरीके से कुछ लोगों ने तीर्थयात्रियों जिसमें महिला, पुरुष, बच्चे, वृद्ध आदि सम्मिलित थे।

 

उन पर गोलियां और लाठियों के साथ-साथ तलवार, पत्थरों से हमला किया। सैकड़ों गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर उनके साथ लूटपाट करते हुए आग के हवाले कर दिया। घटना में दो पुलिसकर्मियों सहित अन्य चार हिंदू कार्यकर्ताओं की हत्या की गई और साथ ही सैकड़ों हिंदू घायल हुए, जिससे देश में हिंदू धर्म को मानने वाले अनुयायियों को गहरा घात पहुंचा है। हिंदूवादी संगठनों ने मांग की है कि संबंधित जिहादी मानसिकता वाले अपराधियों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्रवाई करते हुए इन्हें जेल की सलाखों में डाला जाए और उन्हें फांसी दी जाए। वहीं ज्ञापन देने के दौरान सभी हिंदूवादी संगठनों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर हमारी मांगे नहीं मानी जाती है तो यह आंदोलन और उग्र होगा। इसका जिम्मेदार प्रशासन एवं हरियाणा प्रशासन रहेगा। मौके पर सुबीर श्रीवास्तव विभाग मंत्री कमलेश त्रिपाठी विभाग विशेष प्रमुख राजेश चौधरी उपाध्यक्ष हर्षित सोनी नगर अध्यक्ष आलोक तिवारी प्रियांशु गुप्ता जय प्रकाश सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.