सहायक निदेशक शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल आज दो दिवसीय दौरे पर तीर्थ नगरी ऋषिकेश पहुंचे

0 17

ऋषिकेश : सहायक निदेशक शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल आज दो दिवसीय दौरे पर तीर्थ नगरी ऋषिकेश पहुंचे, उन्होंने ठीक 9:00 बजे पहुंचकर पंजाब सिंध क्षेत्र साधु संस्कृत महाविद्यालय मे नवीन छात्र प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का मुख्य अतिथि के रूप में दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया ।

 

इस अवसर पर छात्र-छात्राओं सहित विद्यालय परिवार को संबोधित करते हुए डॉ घिल्डियाल ने कहा कि संस्कृत ब्रह्मविद्या है, इसलिए इसकी तुलना और उसका अध्ययन और अध्यापन कर रहे लोगों की तुलना सामान्य विद्यार्थियों एवं शिक्षकों से नहीं की जा सकती है, उन्होंने कहा कि भारत जगतगुरु इसीलिए था क्योंकि इस देश में जहां शस्त्र विद्या से राष्ट्र की रक्षा होती थी तो शास्त्र विद्या से देश की संस्कृति की रक्षा की जाती थी जो गुरुकुल शिक्षा से ही संभव है।

सहायक निदेशक ने कहा कि संस्कृत महाविद्यालयों में प्रवेश लेने वाले छात्रों की निरंतर बढ़ रही छात्र संख्या से लगता है ,कि भारत फिर से विश्व गुरु की तरफ कदम बढ़ा रहा है , उन्होंने इस अवसर पर नवीन प्रवेश लेने वाले छात्रों के उपनयन संस्कार पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए गाय ,गंगा और गायत्री को भारत की आत्मा बताया।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि स्वामी रामतीर्थ आश्रम के परमा अध्यक्ष महंत लोकेश दास ने कहा कि उतराखंड में जिस प्रकार से संस्कृत को द्वितीय राजभाषा का दर्जा देकर सम्मानित किया गया है ,और सरकार की मंशा के अनुरूप जिस तरह सहायक निदेशक डॉ चंडी प्रसाद घिल्डियाल जैसे अधिकारी द्रुतगति से कार्य कर रहे हैं, वह दिन दूर नहीं जब भारत के विश्व गुरु बनने की पटकथा उत्तराखंड से ही लिखी जाएगी।

इससे पूर्व विद्यालय में पहुंचने पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहायक निदेशक डॉ चंडी प्रसाद घिल्डियाल का महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉक्टर शशिधर बहुगुणा एवं वर्तमान प्राचार्य डॉक्टर नवीन भट्ट ने पूरे स्टाफ एवं छात्रों सहित वेद मंत्रों की ध्वनि के साथ माला ,पुष्पगुच्छ एवं अंग वस्त्र भेंट कर गर्मजोशी से स्वागत किया।

प्रधानाचार्य डॉ नवीन भट्ट ने बताया कि सहायक निदेशक शाम को रायवाला में ओएनजीसी से सेवानिवृत्त इंजीनियर सिद्धेश्वर कुकरेती के आवास पर चल रही शिव महापुराण कथा में प्रतिभाग करेंगे और रात्रि विश्राम ऋषिकेश में करेंगे कल 24 मई को श्री नेपाली संस्कृत महाविद्यालय में नवीन प्रवेश लेने वाले छात्रों के उपनयन संस्कार कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।

इस अवसर पर वेदाचार्य रुपेश जोशी, सहायक प्रवक्ता कृष्ण कुमार , सहायक प्रवक्ता मनिका गुप्ता, रजनी बेलवाल सहित महाविद्यालय के सभी शिक्षक एवं कर्मचारी छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.