टाइटैनिक:इस अरबपति ने टाल दी थी सफर की योजना तब शहजादा को मिला पनडुब्बी का टिकट, जान बची तो कही ये बात

0 52

वॉशिंगटन : अमेरिका के निवेशक जे ब्लूम ने खुलासा किया है कि पहले वह और उनका बेटा टाइटन पनडुब्बी में सवार होकर टाइटैनिक जहाज का मलबा देखने अटलांटिक महासागर की गहराई में जाने वाले थे। हालांकि, जे ब्लूम ने आखिरी समय में अपना फैसला बदल दिया, जिसके बाद पाकिस्तानी मूल के अरबपति शहजादा दाऊद ने वह टिकट खरीद लिया। शहजादा दाऊद का यह फैसला आत्मघाती साबित हुआ और टाइटन पनडुब्बी हादसे में शहजादा दाऊद और उनके बेटे सुलेमान दाऊद की मौत हो गई।

स्टॉकटन रश ने जे ब्लूम को मनाने की कोशिश की थी
टाइटन हादसे के बाद जे ब्लूम ने फेसबुक पर उनके और टाइटन पनडुब्बी का संचालन करने वाली कंपनी ओशनगेट के सीईओ स्टॉकटन रश के बीच हुई बातचीत के संदेश साझा किए। जे ब्लूम ने बताया कि स्टॉकटन रश ने उन्हें और उनके 20 वर्षीय बेटे सीन ब्लूम को पनडुब्बी में जाने के लिए मनाने की कोशिश की थी। ब्लूम ने बताया कि वह और उनका बेटा भी टाइटैनिक से बहुत आकर्षित थे और जाने पर विचार भी कर रहे थे। हालांकि, आखिरी वक्त पर उन्होंने मना कर दिया।

टाइटन पनडुब्बी की सुरक्षा से नहीं थे संतुष्ट 
अरबपति निवेशक जे ब्लूम ने बताया कि जब उन्होंने टाइटन पनडुब्बी के बारे में पढ़ना शुरू किया तो वह पनडुब्बी की सुरक्षा को लेकर चिंतित हो गए। जिसके बाद उन्होंने पनडुब्बी में समुद्र की गहराई में ना जाने का फैसला किया। यह फैसला उनकी जिंदगी का सबसे अच्छा फैसला साबित हुआ है। जैसा कि सभी जानते हैं कि टाइटन पनडुब्बी अटलांटिक महासागर की गहराई में लापता हो गई। यूएस कोस्ट गार्ड ने सभी यात्रियों को मृत घोषित कर दिया है। महासागर में टाइटन पनडुब्बी के कुछ टुकड़े बरामद हुए हैं।

बताया जा रहा है कि टाइटन पनडुब्बी समुद्र की गहराई में धमाके में तबाह हो गई है। जे ब्लूम अब अपने  फैसले के लिए भगवान को धन्यवाद दे रहे हैं।

ब्रिटेन के एक व्यवसायी की भी बच गई जान
ब्रिटेन के डिजिटल मार्केटिंग व्यवसायी क्रिस ब्राउन अंतिम समय में टाइटैनिक के मलबे को देखने की साहसिक यात्रा का अपना फैसला बदलने के लिए अपने भाग्य को धन्यवाद दे रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ब्राउन अपने दोस्त और ब्रिटिश अरबपति हामिश हार्डिंग के साथ पनडुब्बी में जाने वाले थे।

इन लोगों की गई जान
पनडुब्बी में टाइटैनिक जहाज के अवशेष को देखने के लिए पांच सदस्यों को ले जाने की क्षमता थी। इसमें सवार एक यात्री ब्रिटिश व्यवसायी हैं। व्यापारी हामिश हार्डिंग (58) एविएटर, अंतरिक्ष पर्यटक और दुबई स्थित एक्शन एविएशन के अध्यक्ष थे। हामिश हार्डिंग वही शख्स थे, जिन्होंने नामीबिया से चीता लाने की परियोजना में भारत सरकार का सहयोग किया था।

 

ब्रिटिश-पाकिस्तानी व्यवसायी शहजादा दाऊद और उनका बेटा सुलेमान भी यात्रियों की सूची में शामिल है। शहजादा दाऊद पाकिस्तान के सबसे बड़े समूहों में से एक एंग्रो कॉर्पोरेशन के उपाध्यक्ष थे, जिनका उर्वरक, वाहन निर्माण, ऊर्जा और डिजिटल तकनीकों में निवेश था। एक वेबसाइट के अनुसार वह अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ ब्रिटेन में रहते थे।

 

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, ओशनगेट के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) स्टॉकटन रश और फ्रांसीसी पायलट पॉल-हेनरी नार्गोलेट भी इस पनडुब्बी में सवार थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.