ये देखिए पुलिस तीन सवारी बैठाकर कर रही कानून का उल्लंघन !

0 25
[rs_special_text tag=”div” align=”left” font_weight=”700″ font_size=”20px” line_height=”1.5em” font_color=”#0a0a0a”]Story Highlights[/rs_special_text][rs_space lg_device=”10″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””][rs_special_text tag=”div” align=”left” font_weight=”700″ font_size=”16px” line_height=”1.5em” font_color=”#666666″]

  • यूपी पुलिस वैसे तो कानून का पाठ प्रतिदिन वाहन स्वामियों को पढ़ाती है लेकिन वह खुद उस पर स्वयं अमल नहीं करती है

[/rs_special_text][rs_space lg_device=”5″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””][rs_special_text tag=”div” align=”left” font_weight=”700″ font_size=”16px” line_height=”1.5em” font_color=”#666666″]

  •  आये दिन तीन सवारी बैठाकर पुलिस यहां से घूमती रहती है लेकिन कोई कहने सुनने वाला नही

[/rs_special_text]

यूपी पुलिस वैसे तो कानून का पाठ प्रतिदिन वाहन स्वामियों को पढ़ाती है लेकिन वह खुद उस पर स्वयं अमल नहीं करती है। तीन सवारी बैठाकर चलने वाले नागरिक के साथ पहले तो अच्छे से खूब खरी खरी सुनाई जाती है कानून का पाठ भी खूब उनके द्वारा पढ़ाया जाता है और उसके बाद उसका चालान भी कर दिया जाता है लेकिन यह सब पुलिस पर लागू नहीं होता।

[rs_space lg_device=”30″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””]

आये दिन तीन सवारी बैठाकर पुलिस यहां से वहां घूमती रहती है लेकिन कोई कहने सुनने वाला और न ही चालान करने वाला होता है। इन्हें न किसी का भय रहता है न ही कानून पालन करने की चिन्ता रहती है और नियम कानून की खूब धज्जियां उड़ा दी जाती है।

[rs_space lg_device=”30″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””]

पूरा मामला कोंच कोतवाली क्षेत्र के रेलवे फाटक के पास का है जहां तीन- तीन सवारी मोटरसाइकिल पर बैठाई गयी है, दो पुलिस कर्मी है तो एक सादा ड्रेस में कोई व्यक्ति बाइक के पीछे बैठा नजर आ रहा है।

[rs_space lg_device=”20″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””][rs_gallery_showcase images=”61,63,67″]
[rs_space lg_device=”30″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””][rs_video_block video_url=”https://www.youtube.com/embed/KGcfuH5tY0k”][rs_space lg_device=”20″ md_device=”” sm_device=”” xs_device=””]
Leave A Reply

Your email address will not be published.