DMRC ने फिर बदला हुडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन का नाम, गुरुग्राम सिटी सेंटर की जगह रखा ये नया नाम

0 31

गुरुग्राम: मेट्रो की येलो लाइन पर पड़ने वाले हुडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन का नाम सोमवार सुबह बदलकर गुरुग्राम सिटी सेंटर कर दिया गया था। वहींथोड़ी देर बाद अब इसका नाम फिर से बदल दिया गया है।

 

 

दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने ट्वीट कियायेलो लाइन पर हुडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन का नाम बदलने के संबंध में पहले की घोषणा में आंशिक संशोधन करते हुएअब सक्षम अधिकारियों द्वारा स्टेशन का नाम बदलकर मिलेनियम सिटी सेंटर करने का निर्णय लिया गया है।

 

 

इसे लेकर सभी अधिकारी दस्तावेजसाइनेजघोषणाओं आदि में भी नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।दिल्ली मेट्रो रेल निगम लिमिटेड (डीएमआरसी) ने सोमवार को ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी है।

 

 

मेट्रो से जोड़े जाएंगे नए और पुराने गुरुग्राम

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों वर्षों से जाम और अव्यवस्थित यातायात की समस्या से जूझ रहे पुराने गुरुग्राम को बड़ी राहत देते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने हुडा सिटी सेंटर को साइबर सिटी से जोड़ने के लिए 5,452 करोड़ रुपये की लागत से 28.50 किलोमीटर की मेट्रो परियोजना के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की थी।

यह कदम केवल नए और पुराने गुरुग्राम में ही सार्वजनिक परिवहन का ढांचा सशक्त नहीं करेगाबल्कि पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को फायदा पहुंचाएगाक्योंकि आसपास के अनेक शहरों से गुरुग्राम तक की आवाजाही करने वाले लोगों की बड़ी संख्या है और यह हर साल बढ़ती भी जा रही है।

 

 

इसे लेकर सभी अधिकारी दस्तावेजसाइनेजघोषणाओं आदि में भी नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।दिल्ली मेट्रो रेल निगम लिमिटेड (डीएमआरसी) ने सोमवार को ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी है।

मेट्रो से जोड़े जाएंगे नए और पुराने गुरुग्राम

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों वर्षों से जाम और अव्यवस्थित यातायात की समस्या से जूझ रहे पुराने गुरुग्राम को बड़ी राहत देते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने हुडा सिटी सेंटर को साइबर सिटी से जोड़ने के लिए 5,452 करोड़ रुपये की लागत से 28.50 किलोमीटर की मेट्रो परियोजना के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की थी।

यह कदम केवल नए और पुराने गुरुग्राम में ही सार्वजनिक परिवहन का ढांचा सशक्त नहीं करेगाबल्कि पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को फायदा पहुंचाएगाक्योंकि आसपास के अनेक शहरों से गुरुग्राम तक की आवाजाही करने वाले लोगों की बड़ी संख्या है और यह हर साल बढ़ती भी जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.