ग्रेटर नोएडा- हाउसिंग सोसायटी ने निवासियों के लिए लागू किया ड्रेस कोड

0 59

पिछले हफ़्ते नोएडा के एक मंदिर में ड्रेस कोड लागू किया गया था। अब ग्रेटर नोएडा की एक हाउसिंग सोसाइटी ने ड्रेस कोड लागू किया है। सोसाइटी के बाशिंदों पर यह ड्रेस कोड पार्क में घूमते वक्त लागू होगा। सोसाइटी की रेज़ीडेंट वेल्फेयर एसोसिएशन के सचिव की ओर से एक नोटिस जारी किया गया है। जिसमें लिखा गया है कि सोसाइटी के प्रांगण में विचरण करते समय कपड़े पहनने का ख्याल रखें। दूसरे लोगों को असहज महसूस न हो और कोई आपके ऊपर सवाल खड़े न करे। नोटिस में आगे लिखा गया है कि बड़ों के पहनावे से ही छोटे बच्चे सीख लेते हैं।

 

 

घर से बाहर इन कपड़ों को पहनने पर पाबंदी
यह ड्रेस कोड शहर के सेक्टर पी-4 की बॉर्डर रोड सहकारी आवास समिति ने लागू किया है। इसे हिमसागर अपार्टमेंट भी कहते हैं। हिमसागर अपार्टमेंट के सचिव की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है, “सभी निवासी यहां के सदस्य हैं। आप सभी से अपेक्षा की जाती है कि जब कभी सोसाइटी में विचरण करें तो अपने आचरण और पहनावे पर विशेष ध्यान रखें। अपने व्यवहार से किसी को आपत्ति करने का मौका न दें। आपके बालक और बालिका भी आपसे सीखते हैं। अतः सभी से अनुरोध है कि लुंगी और नाईटी घर का पहनावा हैं। इन्हें घर से बाहर नहीं पहनना चाहिए। लिहाजा, लुंगी और नाइटी पहनकर सोसाइटी में विचरण नहीं करें।

 

आरडब्ल्यूए के फैसले का शुरू हुआ विरोध
जैसी उम्मीद थी वैसा ही हुआ। सोसाइटी परिसर में आरडब्ल्यूए का यह नोटिस चस्पा होने के बाद कुछ निवासियों ने विरोध शुरू कर दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक हिमसागर हाउसिंग सोसाइटी के निवासी इसका विरोध कर रहे हैं। सोसाइटी के वाट्सएप ग्रुप्स में भी लोग दो खेमों में बंट गए हैं। दूसरी ओर यह नोटिस सोशल मीडिया पर आ गया है। लोग तरह-तरह से अपना पक्ष रख रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि सोसाइटी ने सही फ़ैसला लिया है। घर के भीतर पहने जाने वाले कपड़ों को सार्वजनिक जगहों पर पहनकर नहीं आना चाहिए। दूसरी तरफ कुछ लोगों का कहना है कि यह व्यक्ति का मौलिक अधिकार है। उसकी अपनी आज़ादी है। इस पर पाबंदी लगाने का अधिकार हाउसिंग सोसाइटी को नहीं है। यह कहीं नहीं लिखा हुआ है कि लुंगी या नाइटी पहनकर सार्वजनिक स्थानों पर जाना ग़लत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.