मुफ्ती मोईनउद्दीन अशरफी मियां के उर्स में की गई दस्तारबंदी की रस्म

0 8

रिपोर्ट- खलील मलिक

सम्भल में प्रसिद्व आलीमेदीन मुफ्ती मोइनउद्दीन अशरफी रहमतुल्लाह अलेह के उर्स के मौके पर नातो मनकबत, दस्तारबंदी एवं लंगर व कुल शरीफ की महफिले सजाई गई।

रविवार को क्षेत्र के नरोत्तम सराय स्थित दरगाह पर हज़रत मुफ्ती मोइनउद्दीन अशरफी रहमतुल्लाह अलेह का सालाना उर्स मुबारक का आयोजन परम्परागत तरीके से किया गया। रात्रि में महफिले कव्वाली हुई जबकि सुबह होने पर कुरआन ख्वानी एवं जलसा दस्तारबंदी व कुल शरीफ हुआ।

इस दौरान नात ख्वां ने नात व मनकबत के नज़राने पेश कर सबको झूमने पर मजबूर कर दिया। इस दौरान मदरसा हुसैनिया अंसारियां के तुलबा की तालिम पूरी करने पर दस्तरबन्दी की गई। मुल्क व शहर में अमन शांति एवं भाईचारे तथा तरक्की को दुआ की गई। अकीदतमन्दों की ओर से दरगाह पर चादर पोषी , गुल पोषी करते हुए लंगर का वितरण किया गया। उलेमा हज़रात ने मुफ्ती मोइनउद्दीन अशरफी रहमतुल्लाह अलेह की खिदमात पर रौशनी डाली।

इस मौके पर अध्यक्षता मौलाना खालिद मियाँ ने की तथा संचालन मौलाना अहमद जान ने किया। इस मौके पर मौलाना सय्यद खालिद मिया किछोछवी, मौलाना शाहिद मियाँ किछोछवी, कारी शुऐब अशरफी , मौलाना कमरुद्दीन कोटा, मौलाना अमान उल्ला कोटा, मौलाना अलाउद्दीन कोटा, मुफ़्ती रिज़वान सेफनी, हाफ़िज़ कमाल इटावा, मौलाना अहमद जान दिल्ली, मौलाना बहाउद्दीन, मौलाना खुर्शीद, मौलाना निज़ाम उद्दीन आदि शामिल रहे।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.