कैबिनेट मंत्री प्रेम चन्द्र अग्रवाल की सड़क पर झड़प को कांग्रेस ने बनाया मुद्दा , प्रदेशभर में प्रदर्शन कर फूंका पुतला

0 31

रूद्रपुर:वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल की बीच सड़क पर युवक के साथ हुई हाथापाई का वीडियो वायरल होते ही विपक्षी पार्टी कांग्रेस को बैठे-बिठाए मुद्दा मिल गया। पार्टी ने इसे सीधे आम आदमी पर सत्ता का हमला बताया है। वहीं, बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेशभर में प्रदर्शन किया और धामी सरकार व वित्त मंत्री के खिलाफ नारेबाजी कतरे हुए पुतला फूंका।

वही रुद्रपुर में भी  प्रदेश नेतृत्व के आहवान पर महानगर कांग्रेस अध्यक्ष सीपी शर्मा की अगुवाई में काग्रेसियों ने डीडी चौक पर विरोध प्रदर्शन के बीच कैबिनेट मंत्री प्रेम चन्द्र का पुतला फूंका और उन्हें पद से हटाने की पुरजोर मांग की। इस दौरान कांग्रेसियों ने धामी सरकार और प्रेम चन्द्र अग्रवाल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

 

विरोध प्रदर्शन के दौरान महानगर अध्यक्ष सीपी शर्मा ने कहा कि भाजपा के मंत्री और नेता सत्ता के मद में चूर होकर मर्यादा भी भूल चुके हैं। प्रेम चन्द्र अग्रवाल ने सड़क पर युवक के साथ मारपीट और अमर्यादित व्यवहार करके कानून व्यवस्था और लोकतंत्र को रौंदने का काम किया है। यह घटना बेहद शर्मनाक है। वायरल वीडियो में भाजपा के मंत्री की गुंडागर्दी साफ देऽी जा सकती है। विधानसभा अध्यक्ष जैसे संवैधानिक पद पर रह चुके प्रेम चन्द्र अग्रवाल जब इस तरह की हरकत कर सकते हैं तो आम भाजपाईयों से क्या उम्मीद की जा सकती है। महानगर अध्यक्ष ने कहा कि कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल पहले भी विवादों में रहे हैं।

 

लेकिन इसके बावजूद भाजपा सरकार उन पर मेहरबान रही है। पूर्व में जर्मनी दौरे पर जाने से पहले उन्होंने शहरी विकास विभाग में एक साथ 74 ट्रांसफर करके बड़ा खेल किया था। इन ट्रांसफरों पर मुख्यमंत्री को रोक लगाड़ी पड़ी थी। एम्स में निर्माण कार्यों को लेकर भी वह विवादों मे ंरह चुके हैं। विधानसभा बैकडोर भर्ती प्रकरण में भी उनकी भूमिका जगजाहिर हो चुकी है। इसके बावजूद वह मंत्री पद पर बने हुए हैं। ऐसे विवादित व्यक्ति को सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देना पूरी सरकार पर सवाल खड़े करता है। प्रदर्शन करते हुए कांग्रेसियों ने प्रेम चन्द्र अग्रवाल को मंत्री पद से शीघ्र हटाने की मांग की।

 

 

पुतला फूंकने वालों में पार्षद मोहन खेड़ा, अर्जुन विश्वास, सुनील आर्य, ममता रानी, उमा सरकार, इजहार अंसारी, दिलशाद, जुनैद, सपना गिल, बाबू विश्वकर्मा, नवाब अली, , नवीन पंत, संदेश साहनी, राजू साहनी, शंकर साहनी, राघव सिंह, सतीश राजपूत, सोहेल खान, दिलशाद अहमद, युनूस, अबरार अंसारी, अशोक मण्डल, विधान सरकार,जयदीप गंगवार खगोपति, मनी मंडल, जयंती टमटा, गीता आर्या, बेबी सिकदार राजू कोली शंकर कोली मोहन पार्षद सुभाष राव गोपाल भसीन गोला भाई ओंकार सिंह राघव सिंह राधेश्याम बंसल परवीन पार्षद बिट्टू मिश्रा आदि भी शामिल थे।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.