नम आंखों से दोनों बेटियों ने माता-पिता को दी मुखाग्नि,देश के हर सख्स के आखों में था आंसू

0 29

तमिलनाडु में हेलिकॉप्टर हादसे में मारे गए भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat funeral) और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का बरार स्कवायर में अंतिम संस्कार किया गया.बता दे की नम आंखों से दोनों बेटियों ने पिता जनरल बिपिन रावत और मां मधुलिका रावत का अंतिम संस्कार कर मुखाग्नि दी.इस दौरान उन्हें सेना के जवानों ने 17 तोपों की सलामी दी.

बताते चले की अंतिम संस्कार के लिए पहले सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के पार्थिव शरीर को तीनों सेनाओं के अधिकारियों ने पार्थिव शरीर को कंधा दिया और फिर तिरंगे को परिवार को सौंप दिया . शव यात्रा के बाद पार्थिव शरीर को चिता पर रखा गया. जिसे हर सख्स की आंखे नम हो गई माहौल गमगीन हो उठा सीडीएस बिपीन रावत की दोनों बेटियों कृतिका और तारिणी ने मिलकर अपने माता-पिता का पूरे रीति रिवाज से दिल्ली के बरार स्कवायर में अंतिम संस्कार किया.सीडीएस जनरल बिपिन रावत और मधुलिका रावत की दोनों बेटियां ने अपने माता-पिता को श्रद्धांजलि दी. परिवार के सभी सदस्य भी उन्हें अंतिम विदाई देने पहुंचे.

वही आपको बताते चले की सीडीएस बिपिन रावत समेत तमिलनाडु हेलिकॉप्टर क्रैश में जान गंवाने वाले सभी 13 लोगों को आज अंतिम विदाई दी गई. जनरल बिपिन रावत का पार्थिव शरीर बेस हॉस्पिटल से उनके आवास जब ले जाया गया तब वहां मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना, तीनों सेनाओं के प्रमुख, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी.रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने CDS बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, डीआरडीओ प्रमुख डॉ. जी सतीश रेड्डी ने बरार स्क्वायर श्मशान घाट पहुंचकर CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि अर्पित की.सीडीएस जनरल बिपिन रावत के अंतिम दर्शन के लिए सड़कों पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हुए. इसके अलावा जगह-जगह सीडीएस बिपिन रावत के होर्डिंग लगाए गए. लोगों ने ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, बिपिन जी का नाम रहेगा’ नारे लगाए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.