मौलाना के इस्लाम में दाढ़ी रखने वाले आदेश का सपा सांसद ने किया समर्थन

0 30

रिपोर्ट – खलील मलिक

सम्भल: यूपी के सहारनपुर स्थित इस्लामिक मदरसा दारुल उलूम देवबंद के शिक्षा विभाग के प्रभारी मौलाना हुसैन अहमद ने हाल ही में एक आदेश जारी किया है| जिसमें कहा है कि मदरसे में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स दाढ़ी नहीं कटवाएंगे और अगर छात्र अपनी दाढ़ी कटवाते हैं| तो उन्हें मदरसे से निष्कासित कर दिया जाएगा|

उनके इस बयान पर सम्भल के सपा सांसद डॉ शफीकुर्रहमान बर्क ने समर्थन किया है| सपा सांसद बर्क ने कहा है, कि मौलाना हुसैन अहमद ने जो कुछ कहा है सही कहा है क्योंकि यह शरीयत का मामला है और उलेमा ए इकराम हमसे ज्यादा जानते हैं| यह हुकुम शरीयत के मुताबिक है और इस्लाम में दाढ़ी रखना कहा गया है| ऐसे में अगर दाढ़ी रखने के लिए मौलाना हुसैन अहमद कह रहे हैं| तो यह शरीयत का मसला है और शरीयत के मसले में कोई दखल नहीं दे सकता|

सपा सांसद ने कहा कि जो अल्लाह और उसके रसूल का हुक्म है उसी के मुताबिक काम किया जाएगा | इस्लाम का मतलब यह है कि जो अल्लाह और अल्लाह के रसूल का हुक्म है” उस पर अमल करें और उसके हिसाब से अपनी जिंदगी गुजारे, जिंदगी में अन्य चीजें भी जरूरी हैं| दाढ़ी रखने का भी हुकुम इस्लाम में दिया गया है|

इसलिए दाढ़ी रखो सपा सांसद यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि यह बरेलवी एवं देवबंद का मसला नहीं है| यह इस्लाम का मसला है और जो हुकुम अल्लाह और अल्लाह के रसूल ने दिया है| वह सभी मानते हैं उसमें हमारा कोई दखल नहीं है| समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि अगर मौलाना हुसैन अहमद ने दाढ़ी रखने की बात कही है, तो वह सही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.