जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत -शत प्रणाम

0 31

जय हो भारत के वीर पुरुष
तुमको शत -शत प्रणाम है ।
तुम सत्य हो , और सत्य तुमसे
हाँ ! तुमसे ही तो भारत में प्राण है ॥
तुम कर्मयोगी हे ! धीरपुरुष ,
तुमको शत शत प्रणाम है ॥
बीन गेरुवा के संत तुम
गीता ज्ञान का मंत्र तुम
तुमसे ही तो , ये सादगी का विज्ञान है ॥
जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत -शत प्रणाम है ॥
दिखावे का जहाँ कोई भाव नही
सत्ता का कोई चाव नही
पद पाकर भी तुमको ना रहा कोई अभिमान है ।
जय हो भारत के वीर पुरुष
तुमको शत – शत प्रणाम है ॥
युग निर्माता अखण्ड तुम
अहिंसा का प्रचंड तुम
बिन शस्त्र के जीता तुमने संग्राम है ॥
जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत -शत प्रणाम है ॥
तुम अनुकरणीय सिद्धान्त हो
तुम भारत माँ के वेदान्त हो
मातृभूमि को पूजता तुम्हारा ये दृष्टांत है ॥
जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत – शत प्रणाम है ॥
हो मान तुम अभिमान तुम
भारत के वीर पुत्र महान तुम
देकर लहू तुमने बचाया भारत का सम्मान है ॥
जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत – शत प्रणाम है ॥
शस्य श्यामला का नारा
जय जवान जय किसान
ऐसे भारत के वीर सपूत
जिसके रूप में बसता भगवान है ॥
जय हो भारत के वीर पुरुष तुमको शत -शत प्रणाम है ॥

– कविता त्रिपाठी
( लेखिका कवयित्री के साथ- साथ शिक्षिका भी हैं )

Leave A Reply

Your email address will not be published.