पाकिस्तानी महिला सीमा ने ATS के सामने उगले राज, सचिन से पहले दिल्ली-एनसीआर के कई युवकों से PUBG के जरिए की थी बात

0 117

   ग्रेटर नोएडा : पाकिस्तानी महिला सीमा हैदर और उसके प्रेमी सचिन मीणा से यूपी एटीएस की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। सोमवार को भी सीमा, सचिन और सचिन के पिता से यूपी एटीएस की टीम ने करीब नौ घंटे तक पूछताछ की थी। देर रात यूपी एटीएस की टीम सीमा हैदर और सचिन के पिता को घर छोड़ गई।

 

हालांकि सचिन मीणा को सोमवार से ही एटीएस ने हिरासत में ले रखा है और पूछताछ कर रही है। टीम छह साल से कम आयु की दो बच्चियों को भी मां के साथ ले गई है। रात में महिला को हिरासत में नहीं रखने के नियम की वजह से यूपी एटीएस की टीम सीमा को वापस घर लेकर लौटी थी।

पाकिस्तानी महिला सीमा हैदर ने पूछताछ में कई चौंकावे वाले खुलासे किए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सचिन मीणा पहला भारतीय युवक नहीं है, जिससे सीमा ने पबजी के जरिए मुलाकात की थी। इससे पहले भी वह हिंदुस्तान के कुछ युवकों के संपर्क में थी। जिनके संपर्क में सीमा थी, वो अधिकतर दिल्ली एनसीआर के थे।

सूत्रों का कहना है कि सीमा हैदर एटीएस के हर सवाल का जवाब सचिन से प्यार को जोड़कर दे रही है, लेकिन बरामद आधार कार्ड, चैट डिलीट और पाकिस्तान का मोबाइल तोड़ने आदि के सवाल में वह उलझ रही है। अधिकारी सीमा के जवाब से संतुष्ट नहीं है। सवालों के संबंध में गहनता से पूछताछ चल रही है।

इससे पहले, सीमा हैदर को सचिन मीणा के घर से आज भी पीछे के रास्ते से ले जाया गया था। सीमा हैदर को ले जाने के बाद सचिन की गली में लोगों और मीडिया कर्मी की भीड़ जमा हुई थी, लेकिन धीरे-धीरे लोग कम हो गए। अब रबूपुरा कस्बे के लोग टीवी और सोशल मीडिया के जरिए अपडेट जुटाने में जुटे हैं। एटीएस की पूछताछ के दौरान इस संबंध में खुलकर बात करने से थोड़ा परहेज कर रहे हैं।

पबजी पार्टनर सचिन के प्यार में नेपाल के रास्ते पाकिस्तान से रबूपुरा आई सीमा हैदर पर जासूसी का शक जाहिर किया जा रहा है। एटीएस भी इसी आशंका से सीमा हैदर, सचिन और उसके पिता नेत्रपाल से पूछताछ कर रही है।

अमर उजाला ने किया था खुलासा…ये है पूरा मामला
पाकिस्तान से आई सीमा हैदर की तलाश में पुलिस के जुटने पर अमर उजाला ने दो जुलाई को समाचार प्रकाशित कर खुलासा किया था। चार जुलाई को पुलिस टीम ने सीमा हैदर, सचिन और नेत्रपाल को गिरफ्तार कर प्रेसवार्ता की। डीसीपी साद मियां खान ने जानकारी दी थी कि पाकिस्तान के कराची में रहने वाली सीमा हैदर से सचिन की दोस्ती पबजी पर गेम खेलने के दौरान हुई।

इसके बाद सीमा सचिन से मिलने मार्च में नेपाल आई। यहां सचिन और सीमा सात दिन रहे। नेपाल के ही पशुपतिनाथ मंदिर में दोनों ने शादी करने का दावा किया। 10 मई को सीमा फिर से पाकिस्तान से चार बच्चों को लेकर रवाना हुई थी। सीमा शारजहां से नेपाल और फिर काठमांडू के पोखरा से बस से भारत में प्रवेश कर गई।

इसके बाद यमुना एक्स्प्रेसवे पर फलैदा कट पर उतरी। यहां से रबूपुरा का रहने वाले सचिन मीणा उसे पहले से ही किराये पर लिए गए रबूपुरा के आंबेडकर नगर स्थित घर में ले गया। सीमा हैदर यहां अपने बच्चों के साथ लगभग 50 दिन तक रही। पुलिस ने सीमा को जेल भेजा, न्यायालय से जमानत मिलने के बाद सीमा सचिन के घर पर रह रही थी।

नेपाल के रास्ते पाकिस्तान से भारत आ गई थी सीमा
पाकिस्तान के कराची निवासी सीमा हैदर और रबूपुरा के सचिन मीणा के बीच पबजी गेम खेलने के दौरान जान-पहचान हुई थी। वीडियो कॉलिंग के जरिये नजदीकियां बढ़ने के बाद सीमा 13 मई नेपाल के रास्ते पाकिस्तान से भारत आ गई थी।

चार बच्चों संग रबूपुरा पहुंची सीमा आंबेडकर नगर में किराये पर मकान लेकर सचिन के साथ रहने लगी। मामले की भनक पुलिस को लगते ही सीमा चार बच्चों और सचिन के साथ फरार हो गई। पुलिस टीम ने सभी को हरियाणा के बल्लभगढ़ से पकड़ा था।

सचिन, उसके पिता नेत्रपाल और सीमा को गिरफ्तार कर बीते मंगलवार को न्यायालय में पेश किया था। न्यायालय के आदेश पर तीनों को जेल भेजा गया था। न्यायालय ने बच्चों की आयु कम होने के कारण उनकी मां सीमा के साथ जेल भेजा था। सीमा हैदर और सचिन की जमानत याचिका पर सुनवाई कर वकील उनके प्यार, चार बच्चों और सीमा की सुरक्षा का हवाला दिया। इसके बाद न्यायालय ने दोनों को जमानत दे दी थी।

सीमा हैदर को पाकिस्तान नहीं भेजा तो करेंगे आंदोलन
गोरक्षा हिंदू दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष वेद नागर का कहना है कि सीमा हैदर की गतिविधियां बता रहीं हैं कि वह जासूसी करने देश में आई है। इतनी अच्छी हिंदी, अंग्रेजी पांचवीं पास महिला नहीं बोल सकती। उसके भाई पाकिस्तान आर्मी में है। उसका देश में रहना खतरे से खाली नहीं है। उन्होंने कहा कि बुधवार तक सीमा को पाकिस्तान नहीं भेजा गया तो वह बृहस्पतिवार से आंदोलन करेंगे।

हिंदू युवा वाहिनी ने की सीमा हैदर को नागरिकता नहीं देने की मांग
हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व जिलाध्यक्ष चैनपाल प्रधान ने सोमवार को देश के गृहमंत्री अमित शाह व प्रदेश मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से पाकिस्तान से आई सीमा हैदर को भारत की नागरिकता नहीं देने की मांग की है। उनका कहना है कि पाकिस्तान ने सीमा हैदर को एक सोची समझी साजिश के तहत भारत में भेजा है। यदि सरकार की ओर से इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया जाता है तो हिंदु युवा वाहिनी के पदाधिकारी सड़क पर उतर कर आंदोलन करने के लिए विवश होंगे।
Leave A Reply

Your email address will not be published.