यहाँ नाबालिक लड़की को भगाने का प्रयास, हिंदूवादी संगठनों का प्रदर्शन, दोनों आरोपी गिरफ्तार

0 32

उत्तरकाशी के पुरोला में नाबालिक लड़की को भगाने की घटना से जिले में माहौल गर्माया हुआ है। इस घटना के आरोपित एक हिंदू व एक मुस्लिम युवक को पुलिस ने घटना के दिन ही गिरफ्तार कर दिया था तथा दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। वहीँ अब रुद्रप्रयाग जिले के एक गांव की नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर गौचर बुलाने के मामले में फरार चल रहे समुदाय विशेष के युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस घटना के कारण कस्बे में सुबह से ही तनाव रहा। विरोध में बड़ी संख्या में हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने गौचर बाजार में प्रदर्शन किया और पुतला दहन किया।

 

 

मंगलवार को समुदाय विशेष के दो युवकों ने एक नाबालिग लड़की को होटल में ठहरने के लिए गौचर बुलाया था। मामला संदिग्ध लगने पर स्थानीय लोगों ने धरमपुरा सरधना मेरठ के रहने वाले एक आरोपी असलम (18) पुत्र समयदीन को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था, जबकि मेरठ का ही रहने वाला मुख्य आरोपी गुलजार लड़की को बाइक पर लेकर फरार हो गया।मामले में बुधवार को लड़की के पिता की तहरीर पर पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

 

 

महाकाल के नाम से बनाई थी फेसबुक आईडी – 

नाबालिग लड़की को गौचर बुलाने वाले मुख्य अभियुक्त गुलजार ने नितिन महाकाल के नाम से फेसबुक आईडी बना रखी थी। हिंदूवादी संगठनों ने इसे लव-जेहाद का मामला बताते हुए रेलवे कंपनियों में काम कर रहे बाहरी मजदूरों, फड़, फेरी, सब्जी और कबाड़ वालों का सत्यापन करने व बाहरी लोगों से संबंधित व्यापारिक प्रतिष्ठानों में असली नाम पता दर्ज किए जाने की मांग की है।

 

 

नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर गौचर बुलाने के मामले के मुख्य अभियुक्त गुलजार मलिक उर्फ नितिन (26 वर्ष) निवासी मोहल्ला किला खेवान सरधना मेरठ ने पुलिस पूछताछ में बताया कि आठ माह पूर्व उसका एक लड़की से प्रेम विवाह हुआ था। उसके साथ ही वह इस नाबालिग लड़की से भी फोन पर बात करता था। एसपी प्रमेंद्र डोभाल ने कहा कि दोनों अभियुक्तों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.